01- शुक्र ग्रह को प्रथ्वी की जुडवा बहन कहा जाता है।

02- गुरू तेग बहादुर की हत्या ओरंगजेब ने कराई थी।

03- गुरूअर्जुनदेव की हत्या जहांगीर ने कराई थी।

04- गुलबदन बेगम ने हुमायुनामा की रचना की।

05- कुमारगुप्त ने नालंदा विश्वविद्यालय की स्थापना की।

06- उडीसा के पुरी में जगन्नाथ मंदिर स्थित है।

07- हर्षवर्धन ने कुंभ के मेले का शुभारंभ किया।

08- जैनधर्म का सबसे महत्वपूर्ण ग्रंथ भगवती है।

09- वाल्मिक को रामायण का रचियता माना जाता है।

10- पुराणों की संख्या 18 है।

11- कुमारसंभव, मालविकाग्निमित्रम, रघुवंशम, मेघदूतम एवं शाकुंतलम के रचियता कालीदास है।

12- ईस्ट इंडिया कम्पनी के जेम्स प्रिंसेप ने अशोक के अभिलेखों का अध्ययन किया।

13- अशोक ने अपने पुत्र महेन्द्र तथा पुत्री संघमित्रा को बोद्धधर्म का प्रचार करने के लिये श्रीलंका भेजा।

14- उत्तरप्रदेश के कुशीनगर में वृक्ष के नीचे उन्हे निर्वाण सन 483 ई०पू० में प्राप्त हुआ।

15- जैनधर्म के 23वें तीर्थाकर, वर्धमान महावीर थे।

16- जैनधर्म में कैवल्य का अर्थ पूर्ण ज्ञान होता है।

17- राजगृह के निकट पावापुरी में वर्धमान महावीर का देहांत हुआ।

18- फ्यूज तार बनाने में टांका का उपयोग किया जाता है।

19- टिन और लेड (सीसा) से मिलकर टांका बनता है।

20- वर्तमान की घग्गर नदी को प्राचीन समय में सरस्वती नदी कहते थे।